उत्तर प्रदेश तमाम सुरक्षा के इंतजाम प्रोटोकॉल के बावजूद यूपी में कोविड-19 बेकाबू होता हुआ नजर आ रहा है। राजधानी लखनऊ में कोविड-19 बेकाबू हो चुका है यहां पर केजीएमयू यानी किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में ढाई सौ से अधिक डॉक्टर, एसजीपीजीआई में 100 डॉक्टर के साथ लखनऊ मेडिकल कॉलेज के हर विभाग के स्टाफ संक्रमित पाए गए हैं, 125 रेजीडेंट डॉक्टर व 20 फैकल्टी के साथ अन्य 100 स्टाफ कोविड-19 में पाए गए हैं।

लखनऊ में 4444 कोविड-19 के नए संक्रमित मरीज, 31 की मौत, जिलेवार देखें पूरे उत्तर प्रदेश का डाटा

राजधानी लखनऊ में कोविड-19 का संक्रमण इस कदर व्यापक हो चुका है कि यहां पर डीएम अभिषेक प्रकाश ने खुद मेडिकल एसोसिएशन की टीम के साथ डिस्कस करते हुए कबूल किया है कि अब आलम यह हो गया है कि लोग सड़कों पर मर रहे हैं।

जिन खबरों का डीएम अब तक खंडन कर रहे थे उन्होंने देर से मेरी सही स्वीकार कर लिया है।

सहारा हॉस्पिटल के बाहर से डीएम अभिषेक प्रकाश

डीएम लगातार अस्पताल से अस्पताल दौड़ कर स्थिति को काबू करने में लगे हुए हैं मुख्यमंत्री भी लगातार अलग-अलग हॉस्पिटल में जाकर स्थिति को काबू करने में जुट गए हैं बात करे लाशों की तो लखनऊ के बैकुंठ धाम में लंबी कतारों के साथ वेटिंग में दह संस्कार की स्थिति बरकरार है कल देर रात तक श्मशान घाट पर दाह संस्कार किए जाते रहे हैं विद्युत मशीनों से दाह संस्कार के साथ लोग अब लकड़ियों से विदा संस्कार कर रहे हैं भैसा कुंड गुलाल घाट पर 100 से ज्यादा 100 पहुंच चुके हैं।

कोविड-19 राजधानी लखनऊ का हो रहा बुरा हाल, नवाबी के चक्कर में चेहरे पर नहीं दिख रहे मास्क

राजधानी लखनऊ में रोना बेकाबू सोता हुआ नजर आ रहा है आंकड़े दिन पर दिन चौकआते हुए नजर आ रहे हैं सबसे बुरा हाल शहरी क्षेत्रों का है लेकिन देहाती क्षेत्र भी किसी से पीछे नजर नहीं आ रहे हैं। पूरे उत्तर प्रदेश में जितने आंकड़े प्रतिदिन दर्ज हो रहे हैं उनमें अकेले एक तिहाई हिस्सा राजधानी लखनऊ का नजर आ रहा है, राजधानी में भारी संक्रमण के बावजूद सड़कों पर निकलने वालों के चेहरे पर से मास्क गायब है, राजधानी के देहाती क्षेत्र से लेकर शहरी क्षेत्र में नवाबी के चक्कर में लोग मास्क ना लगाकर संक्रमण को लगातार बढ़ा रहे हैं।

सुरक्षा बल जहां भी इसे देखते हैं मार्क्स लगाने के लिए टोकते हुए वसूली भी जारी है लेकिन राजधानी वासियों की लापरवाही बदस्तूर जारी है सरकार को पूरे मामले में स्पेशल आदेश के साथ लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की जरूरत है ताकि हालत को काबू में किया जा सके राजधानी लखनऊ के लिए अलग से कदम उठाने की जरूरत है। क्योंकि पूरे प्रदेश से ज्यादा स्थिति जहां खराब होती जा रही है।

यूपी में बढ़ती संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय के साथ 12वीं तक के स्कूलों को 30 अप्रैल तक बंद करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here