loading...

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में स्वास्थ्य कर्मी की कोविड-19 वैक्सीन लगने के 24 घंटे के बाद संदिग्ध हालत में मौत हो गई। वार्ड बॉय के लड़के विशाल ने बताया कि उनके पिता की वैक्सीन लगने के बाद से ही सांस फूलने लगी थी।

mritak ward Boy ka beta Vishal
loading...

16 जनवरी को मुरादाबाद जनपद में स्वास्थ्य कर्मी 46 वर्षीय महिपाल की कोविड-19 वैक्सीन लगने के बाद सांस फूलने लगी जिसके बाद रविवार को उनकी तबीयत और ज्यादा बिगड़ गई जिसके बाद उनकी मौत हो गई। मृत अवस्था में उन्हे हॉस्पिटल ले जाया गया , 16 जनवरी को 12:00 बजे के करीब vaccine लगाई गई थी। पूरे मामले पर जिला चिकित्सा अधिकारी यानी सीएमओ ने कहा- उनके सीने में जकड़न और सांस फूलने में दिक्कत हुई थी जिसके बाद उनकी मौत हुई इनकी उम्र 46 वर्ष के करीब थी मृत्यु के कारण की जांच की जा रही है पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है वो पहले से संक्रमित नहीं थे वैक्सीन का कोई रिएक्शन प्रतीत नहीं होता है रात में उन्होंने नाइट ड्यूटी भी की थी कोई दिक्कत नहीं थी।

युद्ध स्तर पर जारी है सफल क्विड वैक्सीन लगाने का अभियान 2 दिनों में 224000 से ज्यादा स्वास्थ्य कर्मियों को लगाई गई है वैक्सीन

कोविड-19 से निपटने के लिए युद्ध स्तर पर देशव्यापी अभियान चलाकर 2 दिनों के अंदर 224000 से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों को पहली दौड़ में कोविड-19 से बचाव के लिए टीका लगाया गया है रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान प्रतिकूल प्रभाव यानी साइड इफेक्ट के 447 मामले सामने आए हैं सरकार के मुताबिक 447 में से केवल 3 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराने की आवश्यकता पड़ी थी जिनमें दिल्ली के एक वार्ड boy को भी शामिल किया गया है जिसकी हालत में ज्यादा सुधार नहीं है इसी बीच मुरादाबाद में वैक्सीन लगने के बाद 46 वर्षीय वार्ड बॉय की मौत हो गई है।

शुरुआती रिपोर्ट में डॉक्टर ने बताया कि ऐसा लगता है कि वार्ड boy को साइलेंट अटैक आया जिसकी वजह से इनकी मौत हो गई ।सीएमओ ने भी प्रतिक्रिया करते हुए बताया कि शनिवार को 46 वर्षीय वार्ड बॉय को टीका लगाया गया था उसके बाद से वह ठीक से अच्छे से कार्य कर रहे थे उन्होंने नाइट ड्यूटी भी की। लेकिन इसके विपरीत वार्ड बॉय के बेटे विशाल ने बताया कि वैक्सीन लगने के बाद ही उनके पिता की तबीयत बिगड़ने लगी वह पहले सामान्य स्थिति में थे। उन्हें वैक्सीन लगने के बाद सीने में दर्द और सांस लेने में दिक्कत शुरू हो गई है रविवार को सीने में दर्द और सांस लेने में दिक्कत बढ़ने के बाद उन, लोगों ने उसे जिला हॉस्पिटल लेकर पहुंचे, उससे पहले उनकी मृत हो गई। डॉक्टरों ने भी मृत्यु की पुष्टि की, बता दें कि मृतक महिपाल सिंह जिला चिकित्सा वार्ड बॉय के पद पर तैनात थी उनकी ड्यूटी सर्जिकल वार्ड में थी मृतक के परिवार में दो बेटे और एक बेटी है।

क्या है पूरा मामला

loading...

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिला हॉस्पिटल के सर्जिकल वार्ड में वार्ड बॉय के पद पर तैनात 46 वर्षीय महिपाल सिंह की कोविड-19 वैक्सीन लगने के बाद अचानक तबियत बिगड़ी उन्हें सीने में दर्द और सांस लेने में दिक्कत महसूस हुई जिसके बाद उनके बेटे के मुताबिक घर वालों ने उन्हें फोन करने के बाद 108 नंबर पर एंबुलेंस को फोन किया। लेकिन एंबुलेंस समय पर नहीं आई। जिसके बाद उनकी बुखार के बाद तबीयत बिगड़ने लगी वह काम छोड़कर जब तक आए। जब उन्हें जिला हॉस्पिटल ले जाया गया तब तक डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया विशाल ने बताया कि उनके पिता पॉजिटिव कभी नहीं हुए थे केवल कोरोनावायरस से बचाने के लिए या टीका स्वास्थ्य कर्मी होने के चलते प्रथम चरण में लगाया गया था।

प्रधानमंत्री से लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने देश को वैक्सीन कार्यक्रम को लेकर फैलाई जा रही है अफवाहों से सावधान रहने के लिए कहा है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here